प्यासी भाभी ने चुदाई के लिए घर बुलाया Hindi sex stories Antarvasna

views
Watch Full xxx webseries

🔊 यह कहानी सुनें

सबसे पहले आप सभी को मेरा नमस्कार! रोज इस साइट मैं कहानियाँ पढ़ता हूँ तो मैंने सोचा कि आज अपनी भी जीवन की सच्चाई लिख डालूं. अगर कुछ गलती हुई हो तो क्षमा करियेगा.
अब अपना परिचय देता हूँ मेरा नाम अभिराज (बदला हुआ नाम) है. मैं बिलासपुर छत्तीसगढ़ का रहने वाला हूं, शादीशुदा हूँ. मेरी उम्र 28 है. मैं एक मिडल क्लास परिवार से सम्बन्ध रखता हूँ, परिवार के साथ ही रहता हूं और मेरा लंड किसी को भी संतुष्ट कर सकता है।
आपने मेरी कहानियां पढ़ीकस्टमर की बीवी की चुदाईऔरकस्टमर की बीवी की बहन की चुदाईअच्छा रिस्पॉन्स मिला आप लोगों का!
आज काफी दिन बाद फिर से मैं आप लोगों को एक सच्ची घटना बताने जा रहा हूँआपको ज्यादा बोर न करते हुए सीधे कहानी मैं आता हूँ.
मैं एक दिन फेसबुक पर कुछ देख रहा था कि तभी अचानक एक फ्रेंड रिक्वेस्ट आई. मैं उसे चेक करने लगा देखा तो करीब 25 से 30 की बीच की एक औरत की फ़ोटो प्रोफाइल में लगी हुई है. वो एकदम सेक्सी दिख रही थी. उसका नाम सुषमा (बदला हुआ नाम) लिखा हुआ था. देखने में कुछ ज्यादा ही सुंदर दिख रही थी.
उसकी प्रोफाइल चेक करने से पता चला कि वह बिलासपुर के पास ही से थी. मैंने तुरंत रिक्वेस्ट एक्सेप्ट की और मैंने उसे हेलो लिख के भेजा.उसने जवाब दिया- आप कौन? क्या आप मुझे जानते हैं?मैंने कहा- नहीं जानता! बात करते करते जान जाएंगे.
उसने कोई रिप्लाई नहीं दिया.मैंने एक दो बार हेलो लिख के भेजा पर उसने कोई जबाब नहीं दिया.
तब मैंने भी ज्यादा ध्यान नहीं दिया और अपने काम पर लग गया. शाम को मैं घर आया तो तकरीबन 7 बज रहे थे. मैं फ्रेश हुआ, फ्रेश होकर घूमने निकल गया.
घर से थोड़ा ही आगे निकला कि मैसेंजर पर मैसेज आया. मैंने बाइक खड़ी की, मेसेज देखा तो उसी का मैसेज था. उसमें लिखा हुआ था- हाँ बोलो?मैंने बोला- आपने मेरी बात का जवाब नहीं दिया?उसने बोला कि उसके हसबेंड आ गए थे तो नेट ऑफ कर दी थी, अभी नहीं हैं तो मेसेज किया.मैं बोला- अच्छा!
उसके बाद सुषमा ने पूछा- कहाँ से हो आप?मैं- बिलासपुर … और आप कहाँ से हो?सुषमा- प्रोफाइल में पढ़ लो.मैं- अच्छा प्रोफाइल पिक किसकी है?सुषमा- जिससे मेसेज में बात कर रहे हो. मेरी ही है. क्यों?मैं- अच्छा.सुषमा ने ह्म्म्म लिख के भेज दिया.
मैंने पूछा- घर में कौन कौन है?तो उसने बताया कि घर में सब हैं, हस्बैंड है एक बेटा है.मैंने पूछा- शादी को कितने साल हो गए?तो उसने बताया- 9
मैंने पूछा- आपकी उम्र क्या है?तो वो बोली- क्यों उम्र से क्या करना है?मैं बोला- ऐसे ही!तो बोली- 33 साल!मैं बोला- अच्छा!
उसने मेरी उम्र पूछी तो मैंने बताया- 29वो बोली- लगते नहीं हो.मैं बोला- आप भी कहाँ लगती हो.वो बोली- मैंने खुद को मेंटेन कर के रखा है.मैं बोला- अच्छा.
फिर उसके पति के बारे में मैंने पूछा तो उसने बताया- वो टीचर हैं दूसरे गांव में, हफ्ते में 1 बार आते हैं या कभी काम हुआ तो आ जाते हैं. बाकी तो मैं और मेरा बेटा यहीं बिलासपुर में रहते हैं.मैं बोला- प्रोफाइल में तो कुछ और लिखा है?तो उसने बताया- वो मेरा ससुराल है.मैं बोला- ओह!
फिर उसको कुछ काम याद आया और वो बाय बोल के ऑफ हो गई. मैं भी अपने घूमने फिरने में मगन हो गया.
रात के करीब 10 बजे मैं घर आया. मोबाइल चार्ज में लगाया, खाना खाया और टीवी चालू करके टीवी देखने लगा. टीवी देखते देखते 12 बज गये.
तभी फिर मेसेज आया सुषमा का- हेलो.मैं बोला- क्यों नींद नहीं आ रही क्या?वो बोली- नहीं आ रही!और फिर बातें शुरू हो गई.
सुषमा- क्या कर रहे हो?मैं- लेटा हूँ … और आप?वो- मैं भी लेटी हूँ.मैं- और बताओ?वो- क्या बताऊँ … सब बेकार है. घर पर अकेली बोर हो जाती हूँ दिन भर!मैं- मैं आ जाऊँ क्या?वो- क्यों क्या करोगे आकर?मैं- बातें कर के आपका टाइम पास कर दूंगा.वो बोली- अच्छा.
फिर उसने मुझसे मेरे बारे में पूछा. मैंने सब बताया.वो बोली- चलो बाय … नींद आ रही है, आप भी सो जाओ.मैं बोला- अभी कहाँ नींद आएगी.वो बोली- क्यों कोई और भी है क्या लाइन में?मैं बोला- नहीं है लाइन में कोई … घर पर अकेला हूँ. मम्मी, बीवी, भाभी भैया, पापा, बच्चे सब मेरे मामा के घर गए हैं. 7 दिन हो गए, दो से तीन दिन में आएंगे. क्योंकि नाना जी की तबीयत खराब है तो उन्हें देखने गए हैं. मेरे को ज्यादा काम होने की वजह से मैं नहीं गया.
उसने तुरंत पूछा- खाना कौन बनाता है फिर?मैं बोला- बाहर होटल में खाता हूं.उसने कहा- बता देते तो मैं बना देती!और हंसने लगी.मैं बोला- अब तो बता दिया.वो बोली- हाँ! पर …
फिर मैंने मौका देख के पूछा- व्हाटसऐप नंबर क्या है आपका?तो बोली- क्यों?तो मैंने कहा- उसमें चैट करने में अच्छा लगता है.तो उसने मुझे कहा- ऐसी ही चैट करो, नहीं है व्हाटसअप नंबर!मैं बोला- ठीक है, नहीं देना है तो मत दो.वो बोली- मुझे पसंद नहीं है ज्यादा चैट करना.और बाय बोली.
मैं बोला- नींद आ रही है क्या?वो बोली- नहीं, बच्चे के कपड़े प्रेस करने हैं. सवेरे स्कूल जाएगा.मैं ओके बोला और वो ऑफ हो गई.
मैं टीवी ही देख रहा था कि तभी अचानक 2 से 3 मिनट बाद उसका मेसेज आया- सोये नहीं?मैं बोला- नींद नहीं आ रही!आप लोगो को बता दूं मैं कि अभी तक कोई भी ऐसी बात नहीं हुई जिससे कुछ गलत समझा जाये.उसको मैंने बोला- आप भी तो जग रही हो इसलिए मैं भी जग रहा हूँ.उसने पूछा- एक बात बताओ? मेरी प्रोफाइल पिक कैसी है?मैं बोला- मस्त है.
उसने बोला थैंक्स बोला.मैं बोला- अभी की कोई पिक हो तो भेजो!वो बोली- नहीं नहीं … ये सब नहीं!
मैंने थोड़ा रिक्वेस्ट की वो मान गई. उसने एक सेल्फी भेजी जिसमें वो मैक्सी में थी, ऊपर हाथ करके ली गई सेल्फी थी, हल्के से दूध दिख गए मुझे!मैंने रिप्लाई दिया- सो हॉट!उसने बोला- हट!मैं बोला- आप तो सच में बहुत मस्त दिखती हो.तो उसने मुझसे बोला- मजाक मत करो.मैं बोला- सच में!
फिर मैं बोला- नंबर दो.तो उसने बोला- ओके तुम अपना नंबर दो, जब समय होगा तो मैं मेसेज कर दूंगी.मैंने तुरंत अपना नंबर दिया.उसने बोला- अब नींद आ रही है.मैं बोला- ओके सो जाओ!रात के करीब 2 बज रहे थे. फिर हम दोनों गुड नाईट बोल के सो गए.
सुबह उठा 9 बजे, उसके बाद फ्रेश हुआ, नहाया धोया और कपड़े पहन के आफिस के लिए निकला. अभी जैसे ही आफिस पहुंचा तो पता चला कि सब सर लोग रायपुर मीटिंग में गए हैं.मैं खुद से बोला- आज तो काम ही नहीं है.
मैं वहीं पास में चाय ठेले पर चाय पी नाश्ता किया और बाइक उठा कर घर आ गया.घर आया, घर की थोड़ी साफ सफाई की और टीवी चालू कर के टीवी देखने लगा.
टीवी देखते देखते मैंने मोबाइल उठाया देखा तो व्हाटसअप में नए नंबर से हेलो लिखा हुआ था. डिस्प्ले फोटो देखा तो भगवान का फोटो था.मैंने लिखा- कौन?तो रिप्लाई आया- इतनी जल्दी भूल गए?मैं समझ गया.
मैं बोला- अच्छा सुषमा जी आप! बोलो क्या हो रहा है?बोली- कुछ नहीं, बच्चा स्कूल गया है. अपने लिये खाना बना रही हूं.मैं बोला- क्या बना रही हो?तो बोली- पालक पनीर और रोटी चावल!
मैं बोला- गुड … हमने क्या बिगाड़ा है, हमें भी खिला दो.वो बोली- बिल्कुल … आपके लिए ही बना रही हूं.मैं बोला- कब आ जाऊँ खाने?तो बोली- वेट करो, बनने तो दो.
उसके बाद बोली- मैं थोड़ी देर में बात करती हूं.मैं बोला- ओके.
फिर मैं बैठे बैठे उसके बारे में सोचने लगा. मुझे लगा कि ये अब मुझसे चुदाना चाहती है.करीब 1 घंटे बाद उसका मेसेज आया- क्या कर रहे हो?मैं बोला- आपके मेसेज का इंतजार!वो बोली- अच्छा. मैं नहाने गई थी, कपड़े भी धोने थे. अब फ्री हो गई हूं.
मैं बोला- तो बन गया खाना?वो बोली- बन रहा है. अभी सब्जी बनी है, चावल चढ़ा दिए हैं, रोटी बनाऊंगी. अभी तो 11:30 ही बजे हैं.मैं बोला- अच्छी बात! और बच्चा कब तक आएगा?बोली- आज शाम को 5 बजे आएगा. मैं जाऊंगी उसको लेने!मैं बोला- अच्छा.
इतने में मैंने बोला- कब आऊं तो खाना खाने?वो बोली- वहीं आ जाओ!मैं बोला- कहाँ आना है?तो उसने बिना कुछ सोचे पता बता दिया. बोली- घर के बाहर से कॉल करना!मैं बोला- ओके.
मैं घर से निकला, उसकी कालोनी में गया. उसके घर के बाहर से कॉल किया मैंने तो उसने कॉल उठाया.मैंने बोला- बाहर खड़ा हूँ.
वो आई, दरवाजा खोला मैं अंदर गया. अंदर जाते ही उसने दरवाजा बंद किया और मैंने जब उसको देखा तो देखता ही रह गया. एकदम सन्न हो गया. उसने ब्लू कलर की मैक्सी जो पारदर्शी थी. उसकी गुलाबी ब्रा दिख रही थी. उसके बाल खुले हुए थे.
उसने मुझसे कहा- क्या देख रहे हो?मैं बोला- आप तो बहुत हॉट सेक्सी दिख रही हो!वो मुस्कुरा के किचन में चली गई और पानी लेकर आई.
जैसे ही वो पानी देने झुकी तो मेरा दिमाग खराब हो गया उसके दूध देख के, एकदम गोल मटोल 34″ के थे. फिर मैंने पानी पीकर गिलास उसको दिया उसने गिलास हाथ में लिया.
हमने इधर उधर की बातें की.कुछ ही देर में उसने बोला- खाने में टाइम है, जब तक चाय लाऊं?मैंने कहाँ- जो मन हो, वो पिला दो.उसने मुझे देख कर पूछा- क्या पिओगे?मैं बोला- जो पिला दो!उसने तुरंत बोला- मेरे दूध पीने का इरादा है क्या?
मैं ये सुनते ही सन्न रह गया लेकिन संभल कर खड़ा होकर उसके पास गया और उसे जोर से अपने बदन से चिपका लिया. वो भी मुझसे चिपक गई और बोली- तुम बहुत अच्छे हो.मैं बोला- थैंक्स!और उसे किस करने लगा.वो भी मेरा साथ देने लगी. उम्महह पुच्छ पुच … उम्महा म्महह!करीब 5 मिनट किस करने के बाद हम एक दूसरे से अलग हुए.
वो बोली- चलो बिस्तर में … आज मैं तुमको बहुत मजा दूंगी मैं.तो अब मुझमें वासना भर गयी थी और वो भी छड़ी के लिए गर्म हो चुकी थी.
बिस्तर में जाने के बाद हम दोनों फटाफट नंगे हुए. मैंने उसके चूतड़ पर हाथ फिराया, उसने बड़े ही मस्त अंदाज से सिसकारियां ली- आह आहाहा हाहा हाहा!मेरा लंड खड़ा ही था, उसने निना देर किए मेरा लंड पकड़ कर चूसा. मैं खड़ा होकर उसके बाल पकड़ कर लन्ड चुसवा रहा था.
फिर मैं बोला- रुको!उसने मेरा लन्ड मुंह से निकाला. मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया, उसकी चूत को देखा तो एकदम साफ सफाचट चिकनी!मैंने पूछा- कब साफ की?तो बोली- आज ही … आपके लिए अंदर तक साफ की है.
मैंने उसके पैर फैला कर जीभ उसकी चूत में रखी. जैसे ही मैंने जीभ रखी उसकी चीख निकल गई ‘अआह …हह…मैं बोला- क्या हुआ?बोली- बहुत अच्छा लगा.और मैं चाटने लगा उसकी चूत! वो ‘और चाट अभिराज आहाहा हाहा हाहा … मजा आ रहा है … ज़ोर से … ज़ोर से! और ज़ोर से … खा जा!इतने में वो झड़ गई, मैंने उसकी चूत चाट कर साफ कर दी.
इसके बाद उसने कहा- अब सह नहीं सकती, अपना लन्ड डाल के मुझे चोद दे, मेरी चूत को चोद दे.मैंने भी देर नहीं की, मैं उसको बोला- थोड़ा गीला कर दे!मेरा लन्ड उसने मुंह में लिया और थोड़ा चूस के गीला किया.
मैं उठा, उसके दोनों पैरों के बीच लंड सेट कर के धक्का मारा. गीली चूत होने के करण उसको दर्द कम हुआ, बस एक हल्की सी चीख निकली ‘आह’और उसने पैर ऊपर किये.
मैं उसे चोदने लगा, वो बोल रही थी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… उम्महह आह आह आह … ज़ोर से चोद … और जोर से!कमरे में फच फच फच की आवाज आ रही थी.
उसी पोजीशन में मैंने उसे दस मिनट चोदा. उसका 2 बार पानी निकल गया.
अब मैं भी थक चुका था, मेरा भी होने वाला था. मैं बोला- कहाँ निकालूं?बोली- अंदर ही निकालो, मेरा ऑपरेशन हो चुका है.
मैंने आह आह आह आह करके जोर जोर से धक्के मार कर अपने वीर्य की पिचकारी उसकी चूत में छोड़ दी और उसके ऊपर ही लेट गया.1 मिनट बाद उठा तो उसने उठ के अपनी चुत और मेरे लंड साफ किया.मैं वैसे ही 15 मिनट तक लेटा रहा.
वो नंगी ही रोटी बनाने चली गई. लौट के वो आई तो मेरा लन्ड पकड़ के बोली- एक बार और हो जाये?मैंने उसे कहा- तो देर किस बात की?
तो उसने हिला के, चूस के मेरा लंड खड़ा किया.वो बोली- अब तुम लेट जाओ.और वो मेरे लन्ड पर बैठ के मुझे चोदने लगी और आह आह आह आह की आवाज निकाल रही थी.
मुझे भी मजा आ रहा था, मैं उसके चूतड़ को पकड़ के हिलने लगा. वो भी बराबर हिल रही थी.मैंने उसे रोका, वो मेरे ऊपर से उतर गई.
मैंने उसे घोड़ी बनने कहा तो वो झट से बन गई. मैंने पीछे से उसकी चूत में लन्ड डाला और उसे चोदने लगा. वो भी मस्ती से ‘आह आह … आह आह आह … और चोदो … बहुत चोदो … और जोर से … और और और … फाड़ दो मेरी चूत!’ बोले जा रही थी.
मैं भी जोश में था, ज़ोर ज़ोर से धक्के मार रहा था. वो अआह आआह अआहअआ अआह अआह अआह अआह करके चुदवा रही थी.मैंने पूछा- कैसा लगा जान?बोली- बहुत मजा आया. आपका लन्ड बहुत अच्छे से मेरी चूत चोद रहा है. मैं गई … ज़ोर से चोद … और ज़ोर से … अआह अआह गई मैं आह!बोल कर उसने अपना पानी गिरा दिया.
मेरा अभी नहीं हुआ था. वो सीधी हुई, बिस्तर में लेट गयी.
मैंने फिर से उसकी गीली चूत में लन्ड डाला और उसको चोदने लगा. वो भी मस्ती में फिर से आ गई. एक बार मैंने और सुषमा ने दोनों ने साथ में पानी छोड़ दिया. उसके बाद 2 मिनट में हम दोनों ने अपने कपड़े पहने.
और उसके बाद वो खाना लाई. हम दोनों ने खाना खाया. खाना खाकर टाइम देखा तो 3 बज गये थे.मैं बोला- चलो अब मैं निकलता हूँ.तो उसने बोला- जब मौका मिलेगा, मैं तुमको कॉल करूंगी. तो आ जाना!मैं बोला- बिल्कुल … आपकी सेवा में मैं हाजिर रहूंगा.
उसके बाद 3 बार और मिला मैं सुषमा से! उसके बाद उसके हस्बैंड ने अपना ट्रांसफर कोरबा करवा लिया. उसके बाद से फ़ोन सेक्स या फोन पर ही बात होती है. अब जब उससे मिलने का मौका मिलेगा या कोई और सच्ची घटना घटेगी तो आप लोगों को जरूर बताऊंगा.
तब तक के लिए विदा! मेल करके जरूर बताना कि मेरी कहानी कैसी लगी?[email protected]

Leave a Reply