karishma kapoor ki nangi chut ki photo with chudai बस मे आंटी से मिला मस्त मजा

views

Latest sotry by : – बिंदु हेलो डियर फ्रेंड्स, मेरा नाम बिंदु है

और मेरी शादी आज से 3 साल पहले विमल से हुई थी विमल मेरी माँ की सहेली का बेटा है

वो एक बिज़नस कंपनी में जॉब करता है

और अक्सर टूर पर रहता है

हमारी सेक्स लाइफ ठीक ठाक चल रही थी शादी से पहले मैं बिल्कुल कुँवारी थी यानी क़िसी मर्द ने मुझे चोदा ना था मेरा रंग गोरा है

, कद 5 फीट 5 इंच और जिस्म भरा हुआ है

मेरी चूची 36सी है

और हिप्स 36 इंच और कमर 28 इंच है

शादी से पहले मेरी एक सहेली थी शशि जो की मेरी सहेली भी थी और विमल की चचेरी बहन भी थी शशि की शादी आज से दो साल पहले अविनाश से हुई थी अविनाश भी टूरिंग जॉब पर था शशि एक चालू लड़की थी जिसका कई लड़कों के साथ अफेयर चल रहा था. उसका ससुराल दिल्ली में था लेकिन अब उसके पति का ट्रान्सफर हमारे शहर यानी गुडगाँव में हो गया था मुझे शशि का फोन आया,” साली बिंदु मैं तेरे शहर आ रही हूँ खूब मज़े करेंगे दोनो अगर विमल भैया से मन भर गया हो तो मेरे पास बहुत हटे कटे यार है

ं जो मेरी तसल्ली खूब अच्छी तरह करवाते है

ं अगर विमल भैया के लंड से बोर हो गयी हो तो बता देना मैं इस रविवार को पहुँच रही हूँ मेरा एड्रेस लिख लो वहीं मिलते है

और बता विमल भैया का 6 इंच का लंड अभी तक तुझे खुश रख रहा है

या नहीं?” मैं शशि की बात सुनकर शर्म से लाल हो रही थी और कहीं विमल ना सुन ले इसलिये बोली,” अच्छा यार मिलते है

ं क़िसका फोन था, बिंदु?” विमल ने पूछा.” मेरी सहेली और आपकी बहन शशि का अविनाश की ट्रान्सफर भी गुडगाँव में हो गयी है

जल्द ही वो यहाँ आ रहे है

ं. अचानक ही मेरी नज़र विमल की पेंट के सामने वाले हिस्से पर गयी जहाँ मुझे नज़र आ रहा था की उसका लंड खड़ा हो रहा था अच्छा तब तो अच्छा है

तेरी सहेली आ जायेगी और तेरा मन भी बहल जायेगा शशि बहुत हँसमुख लड़की है

अच्छी कंपनी मिल जायेगी हम लोगों को विमल स्वभाविक ही बात कर रहा था लेकिन मुझे लगा की वो शायद शशि के प्रति आकर्षित हो रहा है

मेरी आँखों के सामने शशि का मांसल जिस्म उभर आया मेरी सहेली के नितंभ भरे थे जिनको अक्सर मैने अपने पति को निहारते हुए देखा था. आजकल मेरी और विमल की सेक्स लाइफ बोरियत भरी हो चुकी थी लेकिन शशि के नाम पर मेरे पति का लंड तन गया था खैर देखेंगे आगे क्या होता है

। मेरे घर में मेरी माँ और छोटा भाई संजय है

ं संजय 20 साल का है

और माँ का नाम रजनी है

जो कोई 46 साल की है

पिता जी का देहांत हो चुका है

शशि के घर में उसका भाई जिम्मी है

रविवार के दिन मैं और विमल शशि को मिलने गये शशि ने बहुत टाइट जीन्स पहनी हुई थी जिससे उसके नितंभ बहुत उभरे हुए थे ब्लू जीन्स के उपर उसने सफेद टी शर्ट पहनी हुई थी जिसमें से उसके भारी वक्ष बाहर आने को तड़प रहे थे उसके निपल कपड़े से बाहर निकलने को बेताब दिख रहे थे विमल भैया कैसे हो अपनी शशि की कभी याद नहीं आई, भैया? आप तो हमको भूल ही गये लगते हो कहते हुए शशि मेरे पति के गले लग गयी और विमल ने उसको बाहों में ले लिया वो दोनो ऐसे मिल रहे थे जैसे बिछड़े आशिक मिल रहे हों. अविनाश ने इसका बिल्कुल बुरा नहीं माना और वो मेरी तरफ बढ़ा और मैं उसकी बाहों में समा गयी जीजा जी क्या हाल है

? आपने तो कभी फोन भी नहीं किया क्या बात है

की शशि ने ऐसा क्या जादू कर दिया है

जो हम याद ही ना रहे जीजा जी?” अविनाश ने मुझे बाहों में लेकर प्यार से मेरी पीठ पर हाथ फेरा क्या बताऊँ बिंदु काम में इतना व्यस्त हो गया था की टाइम ही नहीं मिला अब आराम से मिलेंगे बस इस हफ्ते मुझे टूर पर जाना है

अगले वीक मैं फ्री हूँ विमल भैया आप फ्री होंगे अगले वीक? यार पार्टी करेंगे इसी बहाने हमारी बीवीयाँ खुश हो जायेगी और हम भी दो दो पेक पी लेंगे विमल हंस कर बोला ठीक है

मैं भी इस हफ्ते टूर कर लेता हूँ और अगला हफ़्ता फ्री रख लेता हूँ. मैने देखा की विमल का हाथ शशि की चूची पर रेंग रहा था उधर अविनाश ने भी मेरी चूची को अंजाने में दबा दिया मेरे जिस्म में एक करंट सा लगा और मैं तर तरा गयी थोड़ी देर में विमल और अवी पीने लग पड़े और हम दोनो सहेलीयां गप्पें मारने लग पड़ी अब बता मेरी बन्नो कोई नया यार बनाया की नहीं? और या फिर सिर्फ़ भैया से ही चुदवा रही है

? भैया तो नये शिकार की तलाश में लग रहे है

बिंदु मेरी रानी मर्द एक औरत से बंध कर नहीं रह सकता!!” मैं हंस कर बोली और तेरी जैसी चालू लड़की एक मर्द से खुश नहीं रह सकती!! अब यहाँ मेरे पति को पटाने आई है

? साली याद रखना विमल तेरा भाई भी है

कहीं अपनी आदत से मजबूर हो कर मेरे पति को बहनचोद ही ना बना देना वरना मैं भी तेरे पति को पटा लूँगी. शशि मेरे गले में बाहें डालती हुई बोली बिंदु मेरी रानी तेरा पति तो है

ही बहनचोद ना जाने कब से बहन बहन बोल कर मेरे साथ तर्क करता रहा है

अभी भी भैया मेरी चूची पर हाथ फेर रहे थे और फिर मर्द का कोई धर्म नहीं होता जहाँ औरत देखी चोदने की प्लान बना लेते है

ं ये लोग अविनाश कौन सा कम है

अगर मौका मिले तो अभी तुझे चोद डाले मर्दज़ात तो होती ही ऐसी है

। मैं हूँ सेक्स से भरी हुई कुत्तिया जिसकी तसल्ली एक लंड नहीं करवा सकता मेरी जान तू बता कोई यार बनाया है

की नहीं?”मैने बता दिया की विमल के साथ सेक्स में अब वो मज़ा नहीं रहा लेकिन मैने कोई यार नहीं बनाया बनाती भी किसे? यार मैं तो चुदाई की भूखी हूँ और अगर तू भी सम्पूर्ण औरत है

तो तेरा भी मन तरह तरह के लंड लेना चाहता होगा हम ऐसा करेंगे की तू अवी को पटा लेना और मैं विमल भैया को पटा लूँगी एक एक बार चुदवा कर हम पर्मानेंट चुदाई करने का माहौल बना लेंगे. जब अवी तुझे और विमल मुझे चोदना चाहेगा तो हम दोनो ये काम खुलम खुला करने की शर्त रखेंगे बस फिर तो हम सब नंगे हो जायेगे उसके बाद हमारी चाँदी हो ज़ायेगी मेरी रानी दिल्ली में मेरे यार रघु, जगन, वीरू और शाहिद रहते है

सभी के साथ ऐश करवाऊँगी तुझे रघु और जगन का तो 10-10 इंच का लंड है

मेरी जान चुदाई क्या होती है

तुझे पता चल जायेगा तेरी चूत का भोसड़ा ना बन जाये तो कहना मै तो शशि की बात सुन कर दंग ही रह गयी मेरी चूत से भी पानी बहने लगा और मुझे अपनी चूची पर अवी जीजा के हाथ अब भी स्पर्श करते महसूस होने लगे शशि साली तू बहुत गंदी है

बिल्कुल रंडी एकदम कुत्ती तू पटा लेगी विमल को?” शशि टेश में आ कर बोली साली अगर शर्त लगा लो तो 5 मिनिट में विमल को बहनचोद ना बना दिया तो मेरा नाम बदल देना. 5 मिनिट में वो मुझे चोदेगा भी और दीदी भी बोलेगा तू घबरा मत बस अपने जीजा को पटाने की सोच खैर एक प्लान है

मेरे पास हम भी अंदर जा कर शराब पी लेती है

ं और नशे का बहाना बना कर आज ही पति बदलने का काम कर लेती है

ं मैं कुछ समझ ना सकी तो बोली वो कैसे?” शशि बोली ये मुझ पर छोड़ दे हम दोनो जब अंदर गयी तो शशि शरारत से बोली अवी यार हम को भी महफ़िल में शामिल नहीं करोगे? भैया क्या हमको शराब ऑफर नहीं करोगे?” शशि जानबूझ कर अपनी गांड मटकाती हुई विमल के सामने गयी और उसकी जांघों पर हाथ फेरती हुई बात करने लगी मेरा पल्लू भी सरक गया और अवी मेरे नंगे बूब्स को एक भूखे जानवर की तरह देखने लगा. मेरा भी मन कर रहा है

की मैं एक पेक पी ही लूँ पीना कोई मर्दों का ही अधिकार नहीं है

क्यों जीजा जी?” कहते हुए मैं आगे की तरफ और झुक गयी जिससे मेरी चूची अवी के सामने पूरी नंगी हो गयी उधर विमल ने भी शशि को अपनी तरफ खींच लिया और शशि ने अपना सिर उसके सीने पर रख दिया मुझे कोई एतराज़ नहीं अगर तुम लोग पीना चाहते हो क्यों अविनाश हो जाए थोड़ी सी मस्ती लेकिन मेरी बहना कहीं पी कर बहक मत जाना!!” शशि ने भी अपनी बाहें विमल के गले में डालते हुए कहा भैया अगर बहक भी गयी तो क्या होगा? यहाँ मैं आपकी बहन हूँ और बिंदु लगती है

अवी की साली भाई बहन में कोई भेद होता नहीं और साली तो होती ही आधी घरवाली क्यों अवी?” वो बस हंस पड़ा और मेरे कंधों पर हाथ फेरने लगा मेरा बदन अब सेक्स की आग से जलने लग पड़ा था. भैया हमको भी दो ना मैं ग्लास ले कर आई शशि किचन से ग्लास लेने चली गयी जब वो चल रही थी तो विमल बिना क़िसी शर्म के शशि के मादक कूल्हे निहार रहा था और ये अवी भी देख रहा था विमल यार तू तो बहुत बेशर्म हो गया है

बहनचोद अपनी बहन की गांड घूर रहे हो? साले शशि मेरी पत्नी है

!! बिंदु यहाँ है

उसको देख अच्छी तरह विमल भी हंस कर बोला अवी मेरे यार यारों में तेरा क्या और मेरा क्या जो मेरा है

वो तेरा है

और जो तेरा है

वो मेरा है

अब तेरी पत्नी पर मेरा भी तो कुछ हक है

की नहीं? जब तू बिंदु को बाहों में ले रहा था तो मैने कुछ बोला? यारों में सब कुछ बाँट लिया जाता है

अगर क़िसी को एतराज़ ना हो चल एक और पेक बना आज का दिन यादगार बना देते है

ं. तभी शशि आ गयी और उसने दो पेक बना लिए मैं बहुत कम पीती हूँ और मुझे जल्दी ही नशा हो जाता है

शराब कड़वी थी तो मैने कहा शशि साथ में कुछ नमकीन नहीं है

? ये बहुत कड़वी है

मैने घूँट भरते हुए कहा शशि बोली चल हम किचन में जा कर अंडे फ्राई कर लेती है

ये भी खा लेंगे क्यों अवी अंडे खाओंगे? अवी हंस कर बोला जानेमन आज तो तुम लोगों को खा जाने का मन कर रहा है

अगर खिलाना ही है

तो अपने आम चुसवा लो हम दोनो से क्यों विमल? और आपको कुछ खाना है

तो हमारे केले हाज़िर है

ं!!!” मेरा तो शर्म से बुरा हाल हो गया उसकी बेशर्मी की बात सुन कर हाँ खा लेंगी आपके केले भी अवी लेकिन अगर केले में दम ना हुआ तो? वैसे मैं और बिंदु भी बहुत भूखी है

ं हम केले के साथ आपके अंड भी चूस लेंगी सभी हंस पड़े और मैं और शशि किचन में अंडे फ्राई करने लगी शशि ने मेरे ब्लाउज में हाथ डाल कर मेरी चूची मसल डाली और बोली बिंदु मेरी जान क्यों ना आज ही पति बदल कर टेस्ट किया जाए. अवी और विमल अब नशे में है

ं हमको कुछ करने की ज़रूरत नहीं है

विमल भैया तो कब से मुझे सेक्सी नज़रों से घूर रहे है

ं और अवी तो कल्पना में तेरे कपड़े उतार रहा है

क्यों ना देखा जाए की विमल को मैं कैसी लगती हूँ और तुझे अवी का लंड कैसे लगता है

एक बार खुल गये तो हम लोग बिना क़िसी डर के फ्री सेक्स की दुनिया में प्रवेश कर सकते है

ं मेरी रानी आजकल ग्रूप सेक्स का बहुत फेशन है

खूब मज़े करेंगे!! ओके?” मेरे अंदर तो एक आग भड़क उठी थी मुझे अवी एक कामुक मर्द नज़र आ रहा था और मेरी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया था उतेज्ना में आ कर मैने शशि को बाहों में ले लिया और उसके होंठों को चूमने लगी साली तुमने मुझे आज बहुत गर्म कर दिया है

और उपर से शराब का नशा आज जो होना है

हो जाने दो!! मुझे अपने पति के साथ चुदाई कर लेने दे और तू मेरे पति से चुदवा ले शशि कहते हुए. मैने शशि की चूची मसल डाली मेरी साँस बहुत तेज़ी से चल रही थी मेरा अपने आप पर काबू ना रहा चल बिंदु पहले हम कपड़े बदल लें इससे काम आसान हो जायेगा शशि मुझे अपने रूम में ले गयी और उसने सारे कपड़े उतार कर एक खुला हुआ घुटनो तक पहुँचने वाला पजामा और बिना बाज़ू की शर्ट पहन ली और मुझे भी ऐसी ही एक और ड्रेस दे डी पजामा और शर्ट के नीचे हम बिल्कुल नंगी थी मैने देखा की शशि ने भी मेरी तरह अपनी चूत ताज़ी शेव की हुई थी जब मैने अपनी साड़ी और ब्लाउज उतारा तो वो मस्ती से भर गयी और मेरी चूत को मूठी में भर कर कस दिया और मादरचोद तू भी बहुत उत्तेजित हो गयी है

मेरे पति को चोदने के विचार से अवी ठीक चोदेगा तुझे मेरी बन्नो!! साली तेरी चूत से तो गंगा यमुना बह रही है

मेरे लिए भी पति बदलने का पहला मौका है

अंदर जा कर देखते है

ं इन कपड़ों में क्या बॉम्ब गिराती है

तू मेरे पति देव पर? शर्ट का गला इतना लो कट था की कल्पना की कोई ज़रूरत ना बची थी. जब मैं अंदर जाने के लिये मुड़ी तो शशि ने मेरे नितंभ पर ज़ोर से चाटा मारा तो मेरी चीख निकल गयी आह्ह शशि साली कुत्ती मार क्यों रही है

साली शशि शरारत से मुस्कुराती हुई बोली क्योकी मेरे पति तेरी डबल रोटी जैसी गांड पर चाटे ज़रूर मारेंगे और शायद तेरे पिछवाड़े का भी मुहर्त कर दें भारी गांड का बहुत रसिया है

अवी!”जब हम कमरे में गयी तो मर्दों की आँखें खुली की खुली रह गयी विमल के मुँह से निकल गया आह्ह बहनचोद कितनी सेक्सी है

ं ये दोनो औरतें अवी बस देखता ही रह गया यार गर्मी बहुत थी तो हमने चेंज कर लिया पसीने से भीग रही थी हम दोनो तुम तो यहा ए.सी में बैठे हो हम औरतों को किचन में काम करना पड़ता है

मेरे तो बूब्स से पसीना नीचे तक जा रहा था ऑश बिंदु यहाँ आराम है

बैठ जाओ और शराब के मज़े लो तभी विमल ने ताश उठा ली और बोला चलो कार्ड्स खेलते है

ं सभी का मनोरंजन हो जायेगा क्यों बिंदु खेलोगी? मैं भी अब इस सेक्स की गेम में शामिल होने को तैयार थी विमल यार आज जो गेम भी खेलोगे मैं साथ हूँ मुझे लगता है

की आज का दिन हम भुला नहीं पायेगे लेकिन गेम की शर्त क्या होगी हारने वाला कितने पैसे देगा जीतने वाले को? भाई मेरे पास तो बस 500 रुपये है

ं! मैने कहा तो अवी बोल उठा मेरी प्यारी साली साहिबा अंग्रेज लोग एक गेम खेलते है

ं स्ट्रीप पोकर वो ही क्यों ना खेला जाये? जो हारता है

अपने जिस्म से एक कपड़ा उतारेगा शशि को ये गेम पसंद है

क्यों शशि शशि हंस पड़ी यार नंगी तो होना ही है

फिर ताश की गेम में क्यों ना हुआ जाये?”मुझे लगा की अवी और विमल भी वो ही प्लान बना चुके थे जो मैं और शशि बना कर आये थे हम चारों बैठ गये और विमल ने कार्ड्स बाँट दिए बिंदु अभी से सोच लो अगर हार गयी तो सभी के सामने कपड़े उतारने पड़ेंगे. मैं भी अब शराब के नशे में थी पति देव को अगर अपनी पत्नी को नंगा दिखाने में कोई शर्म नहीं है

तो पत्नी को क्या एतराज़ होगा पति देव?” सभी हंस पड़े पहली गेम विमल हार गया शशि ने आगे बढ़ कर कहा विमल भैया की पेंट उतारी जाये ठीक है

? हम सभी ने मंज़ूरी दे दी और शशि ने विमल की पेंट की बेल्ट खोली और नीचे सरका दी मेरा पति अब चड्डी पहने हुए बैठा था उसको कोई शर्म नहीं थी क्योंकी उसका लंड तना हुआ था शशि ने विमल की जांघों पर हाथ फेरा तो अवी बोल उठा शशि मेरी रानी विमल का तो पहले ही खड़ा है

अगर तुमने हाथ फेरा तो कहीं छूट ही ना जाये सभी हंस पड़े. दूसरी गेम में हार हुई शशि की अवी ने कहा विमल यार अब बारी तेरी है

ले लो बदला मेरी बीवी से मेरी मानो तो इसका पजामा उतार दो कम से कम अपनी बहन की चूत के दर्शन तो कर लो विमल मुस्कुराते हुए उठा ठीक है

यार अगर तू अपनी बीवी की चूत दिखवाना चाहता है

तो देख ही लेते है

ं क्यों शशि मेरी बहना कहीं नीचे पेंटी तो नहीं पहन रखी शशि भी बेशर्मी से बोली भैया अपनी बहन की चूत देखने का शौक है

तो पजामा उतार कर ही देखनी होगी मुझे भी लगता है

की तुम बहुत सालो से मेरी चूत के दीदार करने के इच्छुक हो क्यों बिंदु से दिल नहीं भरा?”विमल ने शशि के होंठों पर किस किया और फिर पजामे का इलास्टिक खींच दिया जब वो इलास्टिक नीचे सरका रहा था तो उसने जानबुझ कर उंगलियाँ उसकी फूली हुई चूत पर रग़ड डाली अवी मुस्कुराते हुए बोला विमल साले तू हरामी का हरामी रहा साले शशि की चूत स्पर्श करने की इजाज़त तुझे किसने दी? साले अपनी बहन की चूत पर हाथ फेरते हुए कैसा लगा?” शशि बोली अवी मैं अपनी चूत पर जिसका हाथ फिराना चाहती हूँ फिरा सकती हूँ मेरे विमल भैया से शिकायत मत करना जब तेरी बारी आयेगी तो बिंदु पर हाथ सॉफ कर लेना तीसरी बाज़ी अवी हारा विमल ने मुझे उसकी पेंट उतारने को बोला जब मैने उसकी पेंट उतारी तो वो बोला शशि तेरी सहेली के हाथ से नंगा होना मज़े की बात है

तभी मेरे हाथ अवी के नंगे लंड से जा टकराये उइईईई ये क्या? आपने चड्डी नहीं पहनी? अवी हंस पड़ा क्यों साली साहिबा हमारा हथियार पसंद नहीं आया जो चीख मार दी आपने? आपकी सखी तो काफ़ी खुश है

इसकी पर्फोमेन्स से उसका लंड क़िसी नाग देवता की तरह फूंकर रहा था अवी ने जानबुझ कर पेंट के नीचे कुछ ना पहना था उसका लंड विमल के लंड से थोड़ा बड़ा था अगली गेम फिर शशि हार गयी और बिना कुछ बोले विमल ने उसकी शर्ट उतार डाली. शशि के मोटे मोटे बूब्स सबके सामने थे और मेरी सखी पूरी नंगी हो गयी विमल ने आगे झुक कर उसके निपल को चूम लिया बहनचोद विमल ये फाउल है

मादरचोद तेरी बीवी एक भी गेम नही हारी और मेरी को तू नंगा कर चुके हो और ये ही नहीं साले अपनी बहन का दूध भी पी रहे हो विमल बोला अवी यार हिम्मत है

तो मेरी बीवी को हरा दो और कर दो नंगा मुझे कोई एतराज़ नहीं मेरी बीवी भी हम सभी के बराबर ही है

अब की बारी मैं हारी तो सभी बहुत खुश हुए साली साहिबा अब आई हमारी बारी मैं भी तेरी शर्ट उतार कर नंगा करता हूँ तुझे देखूं तो सही की चूची पत्नी की अधिक सेक्सी है

या साली की? अवी के हाथों ने पहले तो मेरी चूची को अच्छी तरह टटोला मेरी चूची पत्थर की तरह कड़ी हो गयी कसम से अवी का हाथ लगते ही मैं पागल हो गयी. मेरी शर्ट उतार कर जब उसने मेरी चूची को किस किया तो मैं चुदासी हो गयी और में चाहती थी की आज मुझे अवी चोद डाले मेरी चूची गुलाबी हो गयी ऊऊओह अवी मत करो प्लीज अवी ने मुझे होंठों पर किस किया और बोला साली साहिबा जब आपने हाथ लगा कर मेरे लंड को दीवाना बनाया था भूल गई? अभी तो आपकी चूत को नंगा करना बाकी है

फिर हारा अवी और विमल ने मुझे कहा बिंदु डार्लिंग अब अपने जीजा को कर दो पूरा नंगा उतार दो इसकी कमीज़ भी मैने वैसे ही किया अवी का सीना काले बालों से ढका हुआ था और जब उसने मुझे अपने सीने से लगाया तो मेरी कड़क चूची उसके स्पर्श से फटने को आ गयी अवी ने एक हाथ मेरे पजामे में डाल कर मेरी चूत को स्पर्श किया तो मेरी सिसकारी निकल गयी. मेरी चूत से पानी की धारा बह रही थी साली साहिबा आपकी चूत तो पागल हुई जा रही है

क्यों ना इसका इलाज मैं अपने लंड से कर दूँ? विमल यार आज मेरी बात मान लो प्लीज़ तुम शशि को चोदो और मुझे बिंदु को चोद लेने दो इतनी गर्म चुदासी मैने आज तक नहीं देखी अगर क़िसी को एतराज़ है

तो अभी बोल दे विमल और शशि ने हाँ बोल दी वो है

रान हुए जब मैने कहा मुझे एतराज़ है

जीजा जी! मुझे आज की पार्ट्नर बदलने की स्कीम पर एतराज़ है

अगर करना ही है

तो फ़ैसला हो जाये की ये अरेंजमेंट हमेशा के लिए होगा हम चारों आपस में क़िसी के साथ भी जब चाहें जो करना हो कर सकते है

ं अगर मंज़ूर है

तो बोलो अवी ने मेरी चूची को चूमते हुए कहा साली साहिबा आपने तो मेरे मन की बात कर डाली लेकिन शायद विमल को रोज़ रोज़ अपनी बहन चोदना पसंद ना आये विमल ने शशि को अपनी गोदी में उठाते हुए कहा अगर हमारा ये प्रोग्राम अच्छा है

तो फिर इसमे कोई एतराज़ क्यों? चलो एक पेक और बनाओं हमारे इस नये रिश्ते के लिए आज पता चल जायेगा की घर की चूत में कितना स्वाद होता है

. शशि उठी और पेक बना कर ले आई अवी ने मुझे अपनी गोद में बिठा लिया और शशि विमल की गोद में जा बैठी विमल के सिवा हम सभी नंगे थे अवी का लंड मेरी गांड में घुसने की कोशिश कर रहा था जब मैने देखा तो विमल शशि की चूत को हाथों से रग़ड रहा था और जब उसके ग्लास से कुछ बूंदे शशि की चूची पर गिरी तो विमल उसको चाटने लगा ऑश मेरे भाई ये क्या कर रहे हो मैं तो कब से जल रही हूँ चूस लो मेरी चूची आआहह चूसो भैया हह्ह्ह्ह मैं मर गयी मेरी चूत एक शोला बनी हुई है

बस करो भैया अब नहीं रहा जाता पेल डालो अपना पापी लंड अपनी बहन की चूत में मैं मरीईईईई उउउफफफफफफ्फ़ भैयाआआआअ चोद डालो मुझे ऊऊओ बहनचोद अवी ने अब शराब अपने लंड के सूपडे पर गिरा डाली और मुझे चाटने को बोला उसका सूपाड़ा उठक बैठक कर रहा था और जब में उसको चाटने के लिए झुकी तो उसने लंड मेरे मुँह में डाल दिया. मैने आँखें बंद करके लंड चूसना शुरू कर दिया और उसके अंडकोष हाथों में ले कर मसलने लगी अवी मेरे मुँह को क़िसी चूत की तरह चोदने लगा ओह बहनचोद बिंदु बिल्कुल रांड़ है

तू मेरी पत्नी जैसी रांड़ है

तू जो अपने भाई से चुदवाने को तड़प रही है

आआअहह रुक जा वरना मैं झड़ जाऊंगा तेरी माँ की चूत साली बस कर मैं भी अवी को झड़ने नहीं देना चाहती थी इसलिये रुक गयी विमल बोला हमको हमारे डबल बेड पर जा कर एक साथ चुदाई शुरू करनी चाहिये वहाँ मैं तुझे अपनी बहन को चोदते देखना चाहता हूँ चाहे वो मेरी बीवी ही है

. विमल ने शशि का नंगा जिस्म बाहों में उठा लिया और उसको बेड पर ले गया अवी ने मुझे उठा लिया और मैं और शशि साथ साथ नंगी बेड पर लेट गयी दोनो मर्द लोगों के लंड रोड की तरह खड़े थे साली साहिबा मैं तुझे घोड़ी बना कर चोदना चाहता हूँ क्योंकी आपकी गांड मुझे बहुत सेक्सी लगती है

मैं अपना लंड पीछे से आपकी चूत में जाता हुआ देखना चाहता हूँ मैं अपने मर्द के हुकुम की पालना करती हुई घोड़ी बन कर हाथों और घुटनो पर झुक गयी हाँ मेरे हरामी पति देव मैं जानती थी तू यही करेगा अब मेरी सहेली की गांड भी चाट ले क्योंकी तुझे उसकी गांड में भी घुसाना है

थोड़ी देर बाद शशि बोली और फिर विमल की तरफ मूडी मुझे क्या हुकुम है

भैया? मुझे भी घोड़ी बनाओंगे क्या? अगर घोड़ी बनाओंगे तो भी ठीक है

क्योंकी कम से कम बहनचोद बनते वक्त बहन की शक्ल नहीं देख पाओंगे शशि बोली. विमल ने कहा बहना बहनचोद रोज़ रोज़ तो बना नहीं जाता कब से इच्छा थी तुझे चोदने की पहली बार तो देखना चाहता हूँ की मेरी बहना भी चुदाई के लिए तैयार है

अपने भैया से? मेरी लाडो बहना मैं चाहता हूँ की तुम मेरे उपर चढ़ कर मुझे बहनचोद बनाओं मैं अपनी बहन की चूत में अपना लंड जाता हुआ देखना चाहता हूँ लेकिन पहले एक बार अपनी चूत मेरे मुँह से लगाकर अपनी नमकीन चूत का स्वाद तो चखा दो मेरी बहना अपनी चूत को मेरी ज़ुबान पर रख दो प्लीज़ विमल लेट गया और शशि उसके उपर चढ़ कर अपनी चूत चटवाने लगी अवी ने पीछे जा कर एक उंगली शशि की गांड में डाल दी और चोदने लगा उसको उंगली से अवी मादरचोद हट जा साले तुझे बिंदु जैसी हसीन औरत मिली है

और तू हम भाई बहन को आराम से चुदाई नहीं करने दे रहा है

लगता है

क़िसी दिन भैया से तेरी गांड मरवानी पड़ेगी मुझे शशि की गांड तेज़ी से उपर नीचे हो रही थी. असली चुदाई की स्टेज सज चुकी थी अवी मेरे पीछे झुका और अपनी ज़ुबान को मेरी गांड में घुसा कर चाटने लगा मेरी गांड आज तक कुँवारी थी एक नया आनंद मेरे बदन को आ रहा था उधर शशि अब उठी और अपनी दोनो जांघों को फैला कर विमल के लंड पर सवार होने लगी विमल ने अपने हाथ उसकी चूची पर कस दिए और शशि ने उसका लंड हाथ में पकड़ कर अपनी चूत पर रख दिया और नीचे होने लगी अवी ने भी अब गांड चाटना बंद कर दिया और मेरे उपर चढ़ गया अवी का सूपाड़ा क़िसी आग के शोले जैसा गर्म था उसने मेरे नितंभ को फैलाया और जांघों के बीच से लंड मेरी चूत में पेल दिया आआआ भैयाआआअ अंदर जा रहा है

तेरा लंड ऊऊओह बहनचोद बन गये तुम विमल भैया तेरी बहन चुद रही है

तुझसे आज शाबाश. मेरे भाई लगता था की विमल का लंड शशि की चूत की जड़ तक समा गया था अवी का सूपाड़ा भी मेरे अंदर जा चुका था और मैं आनंद सागर में गोते लगा रही थी औररररररर डाल दो जीजा चोद लो अपनी साली को मादरचोद एक ही बार में घुसा दो जीजा मत रोको पेलो मुझे उउउस्स्ईईई मर गई मेरी माँ आआआआ पेलो जीज्ज़ज़ज्ज्जाआा अवी ने अब एक ही झटके में पूरा लंड पेल दिया उसका लंड मेरी चूत में बुरी तरह फिट हो गया और वो मुझे कुत्तिया की तरह चोदने लगा मैं भी अपनी कमर उचका कर अपनी गांड उसके लंड पर मारने लगी कमरा पच पच की आवाज़ों से गूँज उठा एक बेड पर हम चार लोग जन्नत की सैर कर रहे थे विमल ने अपनी बहन के कूल्हे जकड़ लिए और नीचे से चोदने लगा. अवी भी अब एक कुत्ते की तरह हाँफ रहा था अवी मादरचोद थक गये? देखो मेरा पति कैसे चोद रहा है

तेरी पत्नी को? तुझमें दम नहीं है

क्या? साले चोद अपनी साली साहिबा को ज़ोर से ज़ोर से अंदर तक पेल अपना लंड जीजाआाअ अवी ने मेरे बाल पकड़ लिए और घोड़े की लगाम की तरह खींच कर मुझे चोदने लगा अब उसका लंड मेरी बच्चेदानी से टकराने लगा बाज़ू में अपनी सहेली और अपने पति को देख कर मेरी उतेज्ना की कोई सीमा ना रही और मैं झड़ने लगी ऑश ज़ोर से चोदो मैं झड़ी अवी चोद मुझे आआहह मैं झड़ रही हूँ अवी ने भी धक्के तेज़ कर दिए मुझे लगा की वो भी अपनी मंज़िल के नज़दीक है

अचानक लंड रस की गर्म धारा मेरी चूत में गिरने लगी और मेरा चूत रस अवी जीजा के लंड रस से मिल गया उधर शशि ने एक चीख मारी और विमल पर ढेर हो गयी हम चारों झड़ चुके थे। तो यह थी मेरी स्टोरी अगर अच्छी लगे तो इसे शेयर जरूर करना । और … +0 बस मे आंटी से मिला मस्त मजा किरायेदार रीना की मस्ती .

Disclaimer:- Content of this Site is curated from other Websites.As we don't host content on our web servers. We only Can take down content from our website only not from original contact us for take down.

Leave a Reply