maa bahi ki chudai story hindi audeo जीजा की तीन सालियाँ

views

Latest sotry by : – गुमनाम हेल्लो दोस्तों… में आपको मेरी सेक्सी माँ की एक नयी स्टोरी सुना रहा हूँ. यूँ तो में माँ के साथ सेक्स आनंद उठा चूका था. इसीलिए में मौका ढूंढता था कब मेरे पापा कोई टूर पर जाएँ और में माँ के साथ मस्ती करूँ. एक दिन जैसे ही मुझे पता चला पापा आउटस्टेशन जा रहे है

में खुश हो गया. वो शाम की ट्रेन से चले गये थे. में जब कोचिंग करके लौटा तो माँ ने कहा जल्दी खाना खालो मुझे नींद आ रही है

में आज थक गयी हूँ. मैने माँ से कहा क्या कोई स्पेशल आइटम है

, तो वो बोली खाओ तब पता चलेगा क्या स्पेशल चीज़ है

आज़… उन्होने खाने मे दाल दिया में खाने लगा. जब वो परोस रही थी तो झुकते समय उनका पल्लू नीचे सरक गया और उनके बोब्स भी दिखने लगे. बड़े मस्त और गोल गोल मोटे मोटे थे. मुझे बड़ा माज़ा आता था, उनके बोब्स को देखने मे। फिर खाना खाने के बाद वो बोली अरे दूध पियेगा क्या… उसने आज केशर का दूध बनाया था मलाई भी डालकर दी थी. मैने और उसने भी दूध पी लिया और बोली कैसा लगा मज़ा आया. में हंसकर गिलास मे बचे हुए दूध की बूँद उनके बोब्स मे डालकर कहा मुझे तो इनका दूध पीना है

उससे ज़्यादा मज़ा और कहाँ है

… मुझे यही भाते है

.. वो मादक तरीके से मुस्काराई और बोली मुझे बहुत ज़ोर की नींद आ रही है

में सोने जाती हूँ… और उसने हाथ मूह धोकर चेंज करने लगी. मैने कहा में भी चेंज कर लेता हूँ.. मैने भी हाथ मूह धोया बदन मे बॉडी स्प्रे किया और हाफ पैंट पहनकर तैयार हो गया। माँ ने रूम का दरवाज़ा जान बूजकर खुला रखा था. माँ ने अपने कमरे मे जाकर सबसे पहले साडी को खोला. इसके बाद फिर अपने ब्लाउस को खोला. ब्लाउस को खोल के एक हेंगर पर टागने के बाद माँ ने जब अपनी ब्रा को खोलेने की कोशिश करने लगी. तभी में समझ गया की आज की रात मस्त होगी और माँ के रूम की और गया. रूम मे अंदर गया तो उस समय माँ अपनी ब्रा को खोलने मे लगी हुई थी उनका पीठ दरवाजे के तरफ था. अब में माँ के पास आ गया और उनके पीठ पर अपना हाथ रख के अपने हाथ को रगड़ने लगा तो अम्मा अचानक घूम गयी और बोली “अरे तुम यहा क्या कर रहे हो?” में बोला मुझे भी यही सोना है

तुम बोलो तो सो जाता हूँ,.. ” क्यो अच्छा नही लगा?” वो बोली “नही मेरा मतलब है

की तुम यहा अचानक आ गये ?” तो में बोला “मैने देखा की आप अपनी ब्रा को खोलने मे असमर्थ थी तो मैने सोचा की में आपकी हेल्प कर दूँ.. ” उसमे उनकी हामी साफ दिख रही थी. मैने उनकी चुचि को दबा दिया और फिर ब्रा का हुक खोल दिया और उन्होने अपने बदन से उसे उतार कर नीचे डाल दिया.. और उनकी बड़ी बड़ी चुचि बाहर उछलकर आ गयी. जोश मे आकर उनकी रसीली चूंची से जम कर खेलने लगा. क्या बरी बरी चूची थी. और लंबे लंबे निप्पल, देखकर रहा नही गया. में ज़ोर ज़ोर से मसलने लगा और फिर उन्हे चूसने लगा. में बोला आज तो में यही दूध पीऊंगा मुझे तो यह मस्त कर देता है

… वो बोली पी लेना जल्दी क्या है

.. मेरा लंड अब खड़ा होने लगा था और अंडरवेयर से बाहर निकलने के लिए ज़ोर लगा रहा था. मेरा 8” का लंड पूरे जोश मे आ गया था. मम्मी की चूंची मसलते हुए में उनके बदन के बिल्कुल पास आ गया था और मेरा लंड उनकी जाँघो मे रगड मारने लगा था. फिर में अम्मा की चूत को एक हाथ से सहला दिया तो माँ ने मेरी पैंट की तरफ देखा और सहलाते हुए बोली अरे यह तो बड़ा टाइट हो गया है

, मोटा और बड़ा हो गया है

, पहले से ज़्यादा…. इतना सुन के मैने माँ के पेटीकोट के नाडे को खोल दिया वो सरक के ज़मीन पर जा गिरा। अब में माँ की दाहिने चुचि को धीरे धीरे दबाने लगा. वो बोली आज क्या इरादा है

, लगता है

तेयार हो गये हो.. और उसने मेरी पेंट भी खोल दी. मैने कहा आज जब से मैने आपके भींगे हुए बदन को देखा है

मेरे मन मे आग सी लगी है

हुई थी और भगवान का शुक्र है

आज ही मौका मिल गया. आज में आपकी हर कामना को पूरा करना चाहता हूँ…” इस तरह से कहते हुए में माँ की चूची को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा. अब मैने देखा की माँ भी उम्म… सस्स्सस्स.. उम्म्म.. नहिईईईईईई आआअहह की आवाज़ निकालने लगी तो मैने भी अम्मा के कंधे के पास से बाल को हटाते हुए अपने होंठो को अम्मा के कंधे और गर्दन के बीच धीरे धीरे रगड़ने लगा और माँ के बोब्स को ज़ोर ज़ोर से चूसते हुए के साथ ही दूसरे हाथ से माँ के चूत को सहलाने लगा. जैसे ही मैने माँ की चूत को सहलाना कुछ देर तक जारी रखा तो वो अपने आपको रोक नही पाई अब अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी और लंड को कस कर पकड़े हुए वो अपना हाथ लंड के जड तक ले गयी जिससे सुपडा बाहर आ गया. वो मेरे लंड को अपने हाथ मे लेकर खिंच रही थी और कस कर दबा रही थी अब तो हम दोनो मस्ती मे थे। अब हम बेड पर आ गये थे हल्की रोशनी का लाल नाइट बल्ब जल रहा था जो माँ के नंगे बदन को और मादक बना दे रहा था. वो मेरे लंड को ज़ोर से हिलाने लगी में उनके बोब्स को पकड़ कर बारी बारी से चूसने लगा. “अच्छा तो आज अपनी तमन्ना पूरी कर लो, जी भर कर दबाओ, चूसो और मज़े लो.. में तो आज पूरी की पूरी तुम्हारी हूँ जैसा चाहे वैसा ही करो..” में ऐसे कस कर चुचियो को दबा दबा कर चूस रहा था जैसे की उनका पूरा का पूरा रस निचोडकर पी लूँगा… मम्मी भी पूरा साथ दे रही थी. उनके मुह से “ओह! ओह! आह! स, स! की आवाज़ निकल रही थी. मुझसे पूरी तरफ से सटे हुए वो मेरे लंड को बुरी तरह से मसल रही थी. माँ ने अपनी टांगो को फैला दिया और मुझे रेशमी झांटो के जंगल के बीच छुपी हुए उनकी रसीले गुलाबी चूत का नज़ारा देखने को मिला. नाइट लेम्प की हल्की रोशनी मे चमकते हुए नंगे जिस्म को देखकर में उत्तेजित हो गया और मेरा लंड खुशी के मारे झूमने लगा. में तुरंत उनके उपर लेट गया और उनकी चूंची को दबाते हुए उनके रसीले होंठ चूसने लगा. माँ ने भी मुझे अपने आलिंगन मे कस कर जकड लिया चुम्मा का जवाब देते हुए मेरे मुँह मे अपनी जीभ डाल दी. क्या रसीली जीभ थी. में भी उनकी जीभ को ज़ोर शोर से चूसने लगा. फिर में उनके चूंची को चूसता हुआ उनकी चूत को रगडने लगा. और उसकी चूत गीली हो गयी. मैने अपनी उंगली उनकी चूत की दरार मे घुसा दी और वो पूरी तरह अंदर चली गये। जैसे ही मेरी उंगली उनकी चूत के दाने से टकराई उन्होने ज़ोर से सिसकारी ले कर अपनी जाँघो को कस कर बंद कर लिया. अब माँ बेबस हो गयी थी और माँ ने अपने दोनो जाँघो को फैलाते हुए बोली अब देर क्यू करता है

जल्दी से अपने इसको डाल मेरे अंदर और शुरू हो.. और लंड को उनकी चूत के पास लेजाकर मेरा एक ही धक्के मे सुपडा अंदर चला गया. इससे पहले की माँ संभले या आसन बदले मैने दूसरा धक्का लगाया और पूरा का पूरा लंड चूत की जन्नत मे दाखिल हो गया. माँ चिल्लाइ, “उईईइ ईईईईईई ईईईई माआआ उहुहुहह ओह राजा ऐसे ही कुछ देर हिलना डुलना नही, ही!… और इस तरह से माँ भी अब हेल्प करने लगी. और अब में माँ के एक चुचि को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और अपने कमर को हिलाने लगा ओर वो अपनी कमर को भी हिला रही थी. माँ मेरे हर एक झटके के साथ एक अजीब सी आवाज़ निकाल रही थी. कुछ देर के बाद में बोला “क्या हो रहा है

?” तो माँ बोली हाअ. मज़ा आ रहा है

. उम्म… सस्स्सस्स … सस्स्सस्स आहह उम.. की आवाज़ के साथ ज़ोर ज़ोर से खिचने लगी. में अपना लंड उनकी चूत मे घुसा कर चुप छाप पड़ा था। माँ की चूत फडक रही थी और अंदर ही अंदर मेरे लंड को मसल रही थी. उनकी उठी उठी चुचिया काफ़ी तेज़ी से उपर नीचे हो रहे थी. में हाथ छुड़ा कर दोनो चूंची को पकड लिया और मुँह मे लेकर चूसने लगा. माँ को कुछ राहत मिली और उन्होने कमर हिलानी शुरू कर दी. माँ मुझसे बोली, “राजा और ज़ोर से करो, चोदो मुझे.. लेलो मज़ा जवानी का मेरे राज्ज्ज्जा,..” और अपनी गांड हिलाने लगी. माँ और में लगभग एक मिनट तक यू ही अपने काम को अंजाम देते रहे. और मैने अपने लंड की स्पीड बढ़ा दी क्या मस्ती ले रहा था. अब माँ के मूह आवाज़ निकलने लगी. कभी कभी बीच मे में ज़ोर ज़ोर के झटके लगाता तो माँ पूरी तरह से हिल जाती थी. माँ ने अब अपने हाथो को मेरी पीठ पर रख लिया था और मेरे पीठ को सहला रही थी. अब माँ भी मस्ती मे अजीब ही आवाज़ निकाल रही थी. कुछ देर मे मैने माँ को फिर से झटका देना शुरू किया तो माँ अपनी गर्दन को उठा उठा के आहे भरना शुरू कर दिया. अब मैने झटका मारते हुए माँ से पुछा “मस्ती आ रही है

क्या? दर्द तो हो रहा है

मीठा मीठा मस्ती का..” तो माँ ने एक अजीब आवाज़ मे कहराते हुए जबाब दिया ” हह आआहह और ज़ोर से चोद दे और ज़ोर ऊऊओ और झटके दे उउउँ,,”. अब मैने अपने कमर की स्पीड को बढ़ा दिया और कुछ ही देर मे मेरा पूरा लंड माँ की चूत मे चला गया था. क्योकि माँ की चूत से छप छप की आवाज़ आ रही थी।

माँ को पूरी मस्ती आ रही थी और वो नीचे से कमर उठा उठा कर हर शॉट का जवाब देने लगी. कुछ देर के बाद माँ के होंठो को अपने होंठो मे दबा लिया और अपने लंड को माँ की चूत मे ज़ोर ज़ोर से अंदर बाहर अंदर बाहर करने लगा. ये सिलसिला मैने पूरे आधे घंटे तक चला. तब जाकर दोनो शांत पड़े रहे और हम सो गये.. सुबह मे जब मेरी नींद खुली तो माँ की बाहो मे था. अब माँ ने मेरे गाल पर एक चूमा लिया और बोली रात को मज़ा आया ना अब बता तूने कभी गांड को नही मारा या चोदा होगा आज रात को तेरे से गांड मरवाउंगी तेरे को भी मज़ा आएगा.. मैने कहा प्रॉमिस.. बोली वादा और लंड पर चुटकी काट दी. मैने भी बोब्स को ज़ोर से किस कर लिया सस्स्स्स्सुम्म्म की आवाज़ के साथ पूरी तरह से छटपटा उठी. बोली सारी मस्ती आज ही लेगा क्या अभी तो कई रात है

… मैने भी कपड़े पहने और बिस्तर पर लेटा रहा माँ भी कपड़े पहनकर उठकर चली गयी। धन्यवाद loading… और … +0 जीजा की तीन सालियाँ माँ दादी और बहन 1 .

Disclaimer:- Content of this Site is curated from other Websites.As we don't host content on our web servers. We only Can take down content from our website only not from original contact us for take down.

Leave a Reply