maa ki chudai kutte se sex story दीदी और पड़ोस वाला आदमी

views

Latest sotry by : – शान हेलो फ्रेंड्स में एक स्टूडेंट हूँ बी.एसी फाइनल इयर का में अपने पेरेंट्स का इकलोता लड़का हूँ, पापा के पास पैसे की कोई कमी नही हे, मेरे काफ़ी दोस्त भी है

पर में अपने दोस्तों मे वक़्त बिताना पसंद नहीं करता क्योंकी मेरा मिज़ाज कुछ ऐसा हे की में अकेले वक़्त गुजारना पसंद करता हूँ या किसी स्वीट सी लेडी या कुँवारी लडकियों के साथ, जिसकी वजह से मेरे काफ़ी ओरतो से दोस्ती हे जो 1-2 बच्चो की माँ हे ओर आज तक में 5 शादीशुदा ओरतो को ओर 3 कुँवारी लड़कियों को सेक्स कर चुका हूँ, जिसमे से एक ओरत तो मेरे बच्चे की माँ बन चुकी है

पर इसमे मेरी गलती नही थी इसमे उसकी ही इजाज़त थी, खेर यह तो रही मेरी बात अब में आपको अपनी एक स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ इस उम्मीद के साथ की आप लोगों को पसंद आयेगी सब से पहले में हिना जी जो इसकी रीडर ओर राइटर भी हे, ओर इशिका जी का थैंक्स कहना चाहता हूँ की उन्होने ऐसी स्टोरी लिखी जो मुझे पसंद आई, थैंक्स…तो आइये में आप को अपनी स्टोरी सुनाने जा रह हूँ जो मेरे साथ घटी ओर जिसकी वजह से में अपने दोस्तों में पहचान मिली. मेरी एक टीचर थी जिनका नाम था प्रीती रावत, वो पूरी क्लास मे मुझसे ही घुली मिली थी वो शादीशुदा थी उनके पति प्रेस में थे, ओर उनका एक लड़का था जो 1 साल का था, उनका फिगर ज्यादा अच्छा तो नही कह सकते पर एक सेक्सी आंटी थी वो, ओर उनके बूब्स 34 के होगे, ओर उनके हिप्स (कूल्हे) भी सेक्सी थे,वो साड़ी पहनती थी ओर लो कट ब्लाउज, उनका घर मेरे घर से थोड़ी ही दूरी पर था, एक बार में कॉलेज जाने के लिये बाइक से निकल रहा था जब वो सामने से आ रही थी मेने उन्हे देखा ओर नमस्ते किया तो उन्होने मेरे नमस्ते का जवाब दिया मेने उनसे कहा मेम आइये में आपको कॉलेज ले चलता हूँ तो वो कहने लगी नही शान बस मिल जायेगी मेने कहा मेम में भी तो वही जा रह हूँ, आइये तो वो मेरे साथ बाइक पर बेठ गयी, हम लोग कुछ दूर ही चले थे की रास्ता खराब था, जेसे ही कोई गड्डा आता में ब्रेक दबा देता तो उनके बूब्स मेरी पीठ से आकर दब जाते तो वो संभल के बेठ गयी ओर अपना एक हाथ मेरे जांघो पर रख कर बेठ गयी. उनके बूब्स की वजह मेरा लंड खड़ा था एकदम जेसे ही गड्डा आया तो उनका हाथ फिसल कर मेरे लंड से टकरा गया तो मुझे तो करंट लगा पर वो भी चोंक गयी वो कुछ हंसती हुई, ओर अपना हाथ हटा कर बेठ गयी, जब कॉलेजआया तो वो उतरी और कहने लगी थैंक्स शान तुम नही होते तो बस मे पता नही कितना वक़्त लग जाता, मेने कहा मेम आप केसी बात करती है

इसमे थैंक्स की क्या बात हे, में भी यही आ रहा था आप को छोड़ दिया तो क्या हुआ, ओर वो हंस कर चली गयी, उनके जाने के बाद मेने अपना लंड ठीक किया ओर बाइक पार्क करके क्लास मे गया, पूरे दिन मेरा दिमाग खराब रहा, खेर शाम को जब में घर पंहुचा तो मम्मी ने कहा की संजू का कॉल आया था उसके घर जाना हे, संजू यानी मेरे मामा जी, मेने कहा मम्मी में नही जाऊँगा आप लोग चले जाना ओर शाम को मम्मी पापा चले गये उनके जाने के बाद में सो गया रात क़रीब 9 बजे मम्मी का कॉल मेरे फोन पर आया वो कह रही थी की हमे यहाँ हफ़्ता भर लग जायेगा तुम भी आ जाओ मेने कहा नही मेरे एग्जाम है

में नही आ सकता तो वो कहने लगी ओके पर अपना ख्याल रखना ओर कॉल रख दिया. उनके कॉल के तुरन्त बाद प्रीती मेम का कॉल आया की तुम जहाँ भी हो जल्दी से घर आ जाओ मेरे पति की तबीयत खराब हे प्लीज, में उनके घर गया तो उनसे पूछा तो उनके पति को हार्ट अटेक आया था, ओर डॉक्टर ने कहा की इन्हे आराम की सख़्त ज़रूरत हे तो मेम की आखों मे आंसू आ गये मेने उनसे कहा मेम आप परेशान मत होना में आपके साथ हूँ वहाँ बेठे-बेठे रात के 1 बज गये मेम ने मेरे लिये खाना लगाया मेने कहा मेम में घर जाकर खा लूँगा तो उन्होंने कहा क्यों मेरे साथ नही खा सकते, हम दोनो खाना खा रहे थे जब खाना खाते वक़्त उनका पल्लू गिर गया, ओर उनके बूब्स की धारी दिखने लगी उन्होने कुछ ध्यान नही दिया मेरा तो खाने मे बिल्कुल भी दिल नही था बस वहीं देखे जा रहा था, तभी मेम की नज़र मुझ पर पड़ी तो उन्होने अपना पल्लू ठीक किया जल्दी से, कुछ देर के बाद डॉक्टर का कॉल आया उनके घर से आप के पति को कुछ गोलियां देनी हे मेने लिख दी हे, तो मेम ने कहा जाओ लेकर आ जाओ ओर मेम ने जब अपना पर्स उठाया तो उसमे सिर्फ़ 500 रुपए निकले, मेम कुछ उदास हो गईं मेने सोचा की यही मोक़ा हे आज चुदाई हो सकती हे. मेम ने मुझसे कहा की शान मेरे पास पेसे कम पड़ रहे है

. ओर इन्हे दवा देनी हे क्या तुम कुछ हेल्प कर सकते हो मेने कहा जी कितने चाहिये तो वो कहने लगी 1000 रुपये मेने कहा ओके में लेकर आता हूँ, ओर में घर गया ओर पेसे लेकर आया, ओर मेने पेसे लेकर उनके घर गया तो वो बाथरूम मे थी मुझे उनके पेशाब की आवाज़ आई, मेने अंदर देखा एक छेद से तो उनकी चूत पर छोटे-छोटे बाल थे, मेरा लंड जोश मे आ गया में उनके रूम मे गया तो वहाँ उनकी ब्रा लटक रही थी, जो काले कलर की थी, मेने उसे उठाया ओर उसकी खुशबू सूंघने लगा, ओर वहीं मूठ मारी ओर उनकी ब्रा से पोछ कर ब्रा वहीं लटका कर बाहर आकर बेठ गया वो बाहर आईं तो कहने लगी की शान में अभी आती हूँ चेंज करके, ओर अंदर गईं ओर चेंज करने लगी मे वहीं रखी किताब पढ़ने लगा थोड़ी देर के बाद जब वो आईं तो ब्लू कलर की ब्रा पहने थी, ओर उनके चेहरे पर गुस्सा था मेने कहा क्या बात हे मेम आप को गुस्सा क्यों आ रहा है

, तो वो कहने लगी की तुम मेरे रूम मे गये थे क्या? मुझे हंसी आ गयी, तो वो कहने लगी देखो शान मुझे यह सब बिल्कुल पसंद नही हे समझे में एक शादीशुदा ओरत हूँ ओर एक माँ हूँ, तो मेने कहा यह तो ओर भी अच्छा हे जान किसी को पता भी नही चलेगा की किसका हे. तुम्हारे पति तो अब बूढ़े हो गये हे तुम चाहती होगी कुछ नया ओर तगड़ा, तो वो कहने लगी शान तुम होश मे तो हो क्या कह रहे हो किससे कह रहे हो? निकल जाओ मेरे घर से मेंने कहा ओके में चला जाता हूँ पर पैसों के बिना कोई दवा नही देगा तुम याद रखना, ओर मेने अपनी जेकेट उठाई ओर जाने लगा तो वो कहने लगी सुनो तुम ऐसा क्यों कर रहे हो? मेने कहा मेम में आप को फोर्स नही करूँगा आप को अगर यह पेसे चाहिये तो 1 घंटे के अंदर अंदर आप मेरे घर आना ओर हाँ काली साड़ी ओर काले ब्रा पेन्टी मे आना, ओर अगर नही आईं आप 1 घंटे के अंदर तो एम सो सॉरी की में आप को यह पेसे नही दे सकूँगा, ओके बाय बाय ओर में अपने घर आकर बेठ गया, कुछ देर के बाद मेम का कॉल आया शान में नही आ सकती तुम मेरे पति की तबीयत जानते हो प्लीज मुझे पेसे दे दो, मेने कहा मेम पेसे में दे रहा हूँ पर सिर्फ़ 1 दिन के लिये आपको मांग रहा हूँ इसके बदले उसके बाद आप मुझे पेसे वापस मत करना ओके, ओर मेने कॉल कट कर दिया. उसके बाद उनका कॉल नही आया पर 20 मिनिट के बाद वो आईं मेरे घर काली साड़ी मे मेने कहा आइये बेठिये क्या लेंगी आप चाय कोफ़ी गर्म लम्बा या मोटा? तो वो कहने लगी मुझे प्लीज जाने दो बस वो पेसे दे दो ओर रो पड़ी मेने उनके कंधे पर हाथ रखा ओर कहा मेम प्लीज आप ज़िद मत करो इससे मुझे कोई फ़र्क नही पड़ेगा ओर हाँ आप यह सोचो की आप मेरी किसी से शिकायत करोगी तो आप यह सोचो की लोग क्या कहेंगे में रात के 2 बजे आप के घर से निकला हूँ ना तो आप बस मेरा साथ दो में आप का काम करूँगा, खेर वेसे पहले, तो उनकी आखों मे से आसूं टपकने लगे, मेने कहा मेम, आप जानती हे आज के दिन मे कुछ भी नही सुनने वाला नही हूँ ओर मेने उनका एक बूब्स पकड़ लिया तो वो डर गईं ओर पीछे हट गईं कहने लगी की नही यह नही हो सकता हे में एक शादीशुदा ओरत हूँ ओर एक बच्चे की माँ भी हूँ, मैने कहा ओके तो आप को लगता हे कुछ दिखाना ही पड़ेगा, ओर मेने अपनी चेन खोली ओर पेन्ट से अपना लंड निकाला जो की इस वक़्त खड़ा होकर 9 इंच लम्बा हो गया था मेम ने उसको देखा ओर अपने हाथ अपनी आखों पर रख कर कहने लगी की शान यह क्या हे इसे हटाओ यहाँ से. मेने कहा मेम आप प्लीज इसे पकड़ के तो देखिये, ओर उनका एक हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखा ओर कहा देखिये तो उनको केसा लगा होगा यह तो वो ही जानती हे, पर वो डर सी गईं थी, ओर कहने लगी यह क्या असली वाला हे, मेने हाँ जान तो वो कहने लगी नही शान में सिर्फ़ ओरल सेक्स करूँगी इसको अपने अंदर नही ले सकती, मेने कहा यार अगर इसे ना कहा तो यह भाग जायेगी मेने सोचा इसे गर्म करना पड़ेगा, मेने कहा ओके मेम तो वो कहने लगी पर एक शर्त मेरी भी हे, मेने कहा क्या? तो वो कहने लगी की मेरे पति की तबीयत तो तुम जानते ही हो तुम्हे जो भी करना हे यहाँ नही हम यह सब मेरे घर पर करेंगे मैने कहा ओके, चलो ओर में चल दिया उनके साथ। तो दोस्तों आगे की कहानी अगले भाग में । . . . और … +0 दीदी और पड़ोस वाला आदमी मजबूरी का फायदा 2 .

Disclaimer:- Content of this Site is curated from other Websites.As we don't host content on our web servers. We only Can take down content from our website only not from original contact us for take down.

Leave a Reply